उजियारपुर: नेपाली हत्याकांड सहित आधा दर्जण संगीन मामलों में फरार चल रहे मनोरंजन गिरी पुलिस के सामने से नामांकन करवाकर निकल गया

उजियारपुर प्रखंड में पंचायत चुनाव को लेकर नामांकन की प्रक्रिया पिछले 10 सितंबर से चल रही है। लेकिन इसी क्रम में पुलिस की नजरों में फरार चल रहे नेपाली हत्याकांड सहित आधा दर्जण संगीन मामलों में फरार हत्या का आरोपी मनोरंजन गिरी पुलिस के सामने से पंचायत चुनाव को लेकर नामांकन करवाकर निकल गया। जबकी प्रखंड मुख्यालय पर चप्पे चप्पे पर पुलिस की मौजूदगी है। हत्या के आरोपी को इतना आसानी से पुलिस के सामने से बच कर निकल जाना पुलिस की बड़ी लपरवाही को व्यक्त कर रही है।

प्रखंड परिसर में चाक चौबंद पुलिसिया व्यवस्था के बावजूद आधा दर्जन संगीन मामलों में फरार आरोपी एवं निवर्तमान मुखिया मनोरंजन कुमार गिरि उजियारपुर प्रखंड परिसर में नामांकन करवा कर निकल वहां से निकल गया और पुलिस को उसकी आने जाने तक की भनक नहीं लगी। बाद में जब इसकी जानकारी मिली तो पुलिस महकमे में खलबली मच गई है। इस मामले को लेकर दलसिंहसराय एसडीपीओ दिनेश कुमार पांडेय ने उजियारपुर पुलिस से स्पष्टीकरण मांगगा है एवं पुलिस की बड़ी लापरवाही भी बताया है।

Join Telegram channel

उजियारपुर प्रखंड के चांदचौर करिहारा पंचायत का निवर्तमान मुखिया मनोरंजन कुमार गिरि ने 17 सितंबर को ही प्रखंड कार्यालय में जाकर मुखिया पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया था। सबसे बड़ी बात यह है कि प्रखंड कार्यालय के मुख्य गेट एवं चप्पे चप्पे पर पुलिस पदाधिकारी दलबल के साथ मौजूद थे। इसके बावजूद पटना, दलसिंहसराय, बेगूसराय में हत्या, अपहरण, हत्या का प्रयास, पुलिस हिरासत से अभियुक्त को छीनने, पुलिस बल पर हमला के अलावा सरकारी पैसा का गबन जैसे आधा दर्जन से अधिक अपराधिक कांड में फरार चल रहे आरोपी का नामांकन कर निकल जाना लोगों में चर्चा का विषय बना हुआ है।

सोचने वाली बात है कि मनोरंजन गिरि ने अपने नामांकन के लिए दिए गए शपथ पत्र में भी अपने उपर दर्ज कांड संख्या 161/17, 49/17, 26/20, 353/20, 364/20 का जिक्र किया है। ये सभी आपराधिक मामले को लेकर दलसिंहसराय, बेगूसराय एवं पटना के एसडीजेएम कोर्ट में सुनवाई चल रहा है। जिसमें पुलिस को उसकी तलाश भी थी। उसने शपथ पत्र में अपनी वार्षिक आय साढे़ सात लाख बताने के साथ ही दो वाहन का मालिेक बताया है। उसने अपना पेशा व्यवसाय बताया है। वही इस मामले में बीडीओ भृगुनाथ सिंह ने बताया कि इस नामांकन के संबंध में उन्हे पूर्व से कोई जानकारी नहीं थी।

source: livehindustan.com

Like & Follow for latest Updates| सस्ते रेट में यहाँ पर विज्ञापन के लिए संपर्क करें या व्हाट्सप्प करें: +918674830232

टेलीग्राम चैनल से जुडने के लिए यहां क्लिक करे


HTML tutorial