उजियारपुर: मुखिया द्वारा बिना योजना पूरा किए राशि गबन करने को लेकर, जिला समाहर्ता से किया लिखित शिकायत

उजियारपुर प्रखंड के चांदचौर कारिहारा पंचायत के विभिन्न वार्डों में फर्जीवाड़ा करके मुखिया द्वारा योजना को पूरा दिखाकर उस योजना का पैसा निकाल लिया गया लेकिन जमीनी स्तर पर उस योजना का नामो निशान मौजूद नहीं है। जिसको लेकर स्थानीय व्यक्ति सुजीत कुमार गिरी ने समस्तीपुर जिला समाहर्ता को एक लिखित शिकायत देकर पंचायत के विभिन्न वार्डों में फर्जीवाड़े तरीके से योजना का किया गया क्रियांवन को लेकर जांच करवाने एवं दोषियों के खिलाफ कार्यवाई करने की मांग किया है।

शिकायतकर्ता ने बताया की चांदचौर करिहारा पंचायत के वार्ड संख्या 05 में सोभित साह के घर से चंदेराम के घर तक नाला निर्माण कराया। इस योजना का एक भी कार्य पटल पर किया ही नहीं गया हैं इसमें 06 लाख राशि की गवन कर लिया गया हैं यह योजना 2019 से 2020 तक की है। इसी तरह वार्ड संख्या 01 में विलट पासवान के घर से दीपक रजक के घर तक पीसीसी निर्माण किया जाना था जिसका राशि 10 लाख हैं जो की काम हुआ ही नहीं हैं। यह भी योजना 2019 से 2020 का हैं।

Join Telegram channel

वहीं, वार्ड संख्या 04 में सातीश याजी के बथान से माधोडीह तलाक तक पक्का नाला निर्माण कराया जाना था। जिसका राशि 12 लाख हैं। इस योजना का कार्य सिर्फ 10 प्रतिशत किया गया है बाकी बाद नहीं किया गया हैं। यह योजना 2019 से 2020 का हैं।

इसी तरह पंचायत के सभी वार्ड संख्या 01 से लेकर 12 तक में सड़क के किनारे बिजली के खम्बो में लेड लाइट का निर्माण कराया। जो कार्य मात्र वार्ड संख्या 03 में ही किया गया हैं। बाकी बाद किसी भी वार्ड संख्या में नहीं किया गया हैं। इस योजना का राशी 20 लाख हैं। यह योजना 2020 से 2021 तक का हैं।

इसी तरह पंचायत में बंद पड़े कुआं उराहीकारण जो कार्य हुआ ही नहीं हैं। जिसका राशि 16 लाख हैं। यह योजना 2020 से 2021 तक का हैं। वहीं, पंचायत के अन्तर्गत कही भी कचरा डंपीग जोन का व्यवस्था नहीं किया गया हैं। जिसका राशि 03 लाख हैं यह योजना भी 2020 से 2021 तक का हैं।

इसी तरह पंचायत में सार्वजनिक शौचायल का निर्माण नहीं कराया गया हैं। जिसका राशि 03 लाख 87 हजार 840 रुपए हैं। यह योजना 2020 से 2021 का हैं।

मुखिया के द्वारा पंचायत वासियों को गुमराह करने के उद्देश से सरकारी कर्मी के मिली भगत से कही भी किसी योजना का बोर्ड नहीं लगाया जाता हैं। साथ ही एक ही योजना का नाम बदलकर राशि का गवन किया जाता हैं। महाशय को सूचित करना यह है कि यह भीषण कर्मी में पानी के लिए लोग वार्ड संख्या 02, 04, 08 और 11 में एक भी बूंद पानी नहीं दिया जाता हैं। जबकि सारे के सारे राशी निकासी कर लिया गया हैं। सभी योजनाओं के सबूत दौर पर छायाप्रति संलग्न किया गया है। शिकायतकर्ता संजीत कुमार गिरि ने जिला समाहर्ता से कहा है कि सभी योजनाओं को जांच किया जाए और दोषी के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की जाए।

Like & Follow for latest Updates| सस्ते रेट में यहाँ पर विज्ञापन के लिए संपर्क करें या व्हाट्सप्प करें: +918674830232

टेलीग्राम चैनल से जुडने के लिए यहां क्लिक करे


HTML tutorial