फ्लिपकार्ट के नाम पर ऑनलाइन फ्रॉड कर पत्रकार के खाते से उड़ाए करीब 15,000 रुपए, आप भी हो जाइए सतर्क ऐसे होता है ऑनलाइन फ्रॉड

उजियारपुर प्रखंड क्षेत्र के प्रातः किरण अखबार के संवाददाता मृत्युंजय कुमार के खाते से उच्चको ने फ्लिपकार्ट के नाम पर ऑनलाइन फ्रॉड कर करीब पन्द्रह हजार रुपए उड़ा लिया। जिसको लेकर पत्रकार मृत्युंजय कुमार ने उजियारपुर थाने में एक लिखित आवेदन दिया है। साथ ही उन्होंने बताया है कि मैं मृत्युंजय कुमार पिता सीताराम प्रसाद कर्ण ग्राम रामचंद्रपुर अंधेल वार्ड नंबर 4 का निवासी हूं।

ऑनलाइन फ्रॉड

वर्तमान मे मै प्रातः किरण अखबार का उजियारपुर प्रखंड का संवाददाता हूं। शुक्रवार की सुबह करीब 9:00 बजे मेरे मोबाइल नंबर पर एक अज्ञात मोबाइल नंबर नौ तीन तीन चार छौ पांच तीन पांच दो पांच से काॅल आया और बताया कि मैं फ्लिपकार्ट से बोल रहा हूं। आपने जो प्रोडक्ट आर्डर किया है वो होल्ड पर है आप दो रुपया मेरे मोबाइल पर ऑनलाइन पेमेंट कीजिए।

Join Telegram channel

जिस पर पत्रकार ने दो रुपया ऑनलाइन पेमेंट कर दिया। फिर 10 मिनट बाद बारी बारी से 2-2 हजार करके 14,800 रुपया स्टेट बैंक के खाता से निकाल लिया गया। जिसको लेकर पत्रकार ने बैंक मैनेजर से इस संबंध में जानकारी ली तो बैंक मैनेजर ने बताया कि इस तरह की निकासी के लिए मेरे पास कोई तकनीक नहीं है यह साइबर क्राइम को रोकने के लिए अभी तक कोई सुविधा बैंक को नहीं दी गई है। अंत में थक हार कर पत्रकार ने उजियारपुर थाना में एक लिखित आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है।

यहां सोचने वाली बात यह है कि जब एक पत्रकार के खाते से इस तरह से साइबर क्राइम के तहत रुपया उड़ा लिया जाता है तो आम लोगों के साथ क्या स्थिति होगी। वही तकनीकी कि इस डिजिटल दुनिया में साइबर क्राइम पर रोक लगाने में सरकार असफल साबित हो रही है। वही अरबों खरबों की धंधा करने वाली बैंक तकनीकी का अभाव बताकर अपना पल्ला झाड़ लेती हैं। आखिर इसका जिम्मेदार कौन है? लोगों को इस समस्या से कब निदान मिलेगी? फिलहाल इस तरह का साइबर क्राइम होना आम बात हो गया है।

Like & Follow for latest Updates| सस्ते रेट में यहाँ पर विज्ञापन के लिए संपर्क करें या व्हाट्सप्प करें: +918674830232

टेलीग्राम चैनल से जुडने के लिए यहां क्लिक करे


HTML tutorial