रक्षा बंधन: भद्रा काल में राखी बांधना अशुभ होता है, जानिए राखी बांधने का शुभ मुहूर्त

रक्षा बंधन: आज 03 अगस्त को रक्षाबंधन का त्योहार है और यह पर्व भाई बहन के प्यार का सूचक माना जात है। आज श्रावण मास के अंतिम सोमवारी एवं श्रावण पूर्णिमा है। इन्हीं वजह से रक्षाबंधन और भी का महत्वपूर्ण हो जाता है। आज चंद्रमा के मकर राशि में होने के कारण प्रीत योग बन रहा है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार शुभ संयोग सुबह 6 बज कर 40 मिनट तक रहेगाऔर इसके बाद आयुष्मान योग हो जाएगा।

raksha bandhan 2020

श्रावण के पांच सोमवारी को भगवान शिव के पंचमुख का सूचक कहा जाता है। श्रावण के महीने में शिव का पूजा करना बहुत ही महत्वपूर्ण होता है। सच्चे मन से भक्ति से पूजा करने पर शिव जी भावुक होते हैं और मनोकामनाएं भी पूरी होती है। राखी बांधने के वक्त भद्रा काल नहीं होनी चाहिए क्योंकि रावण की बहन ने भी रावण को भद्रा काल में ही राखी बांधी थी इसलिए रावण का विनाश हो गया था।

Join Telegram channel

आज 03 अगस्त को 9:29 am तक भद्रा काल है जिसके कारण इस समय किसी भी लोग को राखी नहीं बांधनी चाहिए। भद्रा काल में राखी बांधना विनास का कारण होता है। राखी बांधने का सुभ मुहूर्त सुबह 9:30 am – 10:42 am से शुरू हो जाएगा और फिर 11:56 am से लेकर 12:50 pm तक एवं दोपहर को 1:35 pm से लेकर शाम 4:35 pm तक राखी बांधने के लीये बहुत ही अच्छा समय है। इसके बाद शाम को 7: 30 pm से लेकर रात 9.30 pm के बीच में राखी बांधने के लीये बहुत अच्छा मुहूर्त है

Like & Follow for latest Updates| सस्ते रेट में यहाँ पर विज्ञापन के लिए संपर्क करें या व्हाट्सप्प करें: +918674830232

टेलीग्राम चैनल से जुडने के लिए यहां क्लिक करे


HTML tutorial