पातेपुर: नून नदी के बाढ़ का पानी ने मचाया भारी तबाही, विभूतिनगर के सैकड़ों घर डूबा, लोग अपने ही घरों में बने है बंदी

वैशाली जिले के पातेपुर प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत मरूई पंचायत के वार्ड संख्या 01 विभूतिनगर गांव में नून नदी के जल ने भारी तबाही मचा रखा है। सैकड़ों परिवार के घरों में बाढ़ का पानी घुसने के कारण लोगों को रहना मुस्किल हो गया है। ना तो निकलने के लिए सड़क बची है ना ही सोने के लिए घर का आँगन चारों तरफ जल ही जल नजर आ रहा है। लोग मजबूरन अपने घरों के छत पर एवं उचे सड़क पर जाकर अपना जीवन यापन करने को मजबूर हो चुके है।

स्थानीय लोगों ने अपना दर्द सांझा करते हुए बताया है की हम लोग अपने अपने घरों में बंदी बने हुए है लेकिन किसी ने भी यहाँ की स्थिति का जायज लेने के लिए नहीं आया है। स्थानीय ग्रामीणों ने बताया है की पिछले दो वर्षों से लगातार बाढ़ आ जाती है और बाढ़ आने के बाद संकड़ों लोगों को बेघर होना पड़ जाता है। लेकिन ना तो सरकार ने अभी तक इससे निजात दिला पाई है और ना ही कोई जन प्रतिनिधि ने इसमें रुचि दिखाई है।

Join Telegram channel

उनके द्वारा बताया गया है की स्थानीय लोग करीब एक महीने से बाढ़ में फंसे हुए है लेकिन ना तो स्थानीय प्रशासन देखने के लिए आया है और ना ही कोई जनप्रतिनिधि देखने के लिए आया है। वही उन्होंने यह भी आरोप लगाया है की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा बाढ़ पीड़ितों को बाढ़ राहत के तहत दी जाने वाली 6 हजार रुपए का आर्थिक मदद भी अधिकारियों द्वारा रख लिया गया है। ना तो पिछले वर्ष बाढ़ राहत की राशि दी गई है और ना ही इस वर्ष किसी भी तरह का सरकारी राहत दी गई है।

ऐसे में स्थानीय लोग उच्चाधिकारियों से गुहार लगाया है की वे उनकी ज्यादा से ज्यादा मदद करें ताकि उन्हे बाढ़ की स्थिति में खाने पीने की दिक्कते ना हो। वही स्थानीय लोगों ने यह भी बताया है की यदि प्रसाशन बाढ़ से निजात दिलाने एवं बाढ़ राहत सामग्री का इंतेजाम नहीं करता है तो वे लोग सड़क जाम कर अपनी आवाज बुलंद करेंगे और प्रसाशन को नींद से जगायेंगे।

Like & Follow for latest Updates| सस्ते रेट में यहाँ पर विज्ञापन के लिए संपर्क करें या व्हाट्सप्प करें: +918674830232

टेलीग्राम चैनल से जुडने के लिए यहां क्लिक करे


HTML tutorial