समस्तीपुर: रेलवे बोर्ड ने दिया डिजल लोकोमोटिव शेड बंद करने का आदेश, बंद होंगे मेंटेनेंस कार्य

समस्तीपुर डीजल लोकमोटिव

समस्तीपुर रेलमंडल मुख्यालय का एक मात्र डीजल लोकोमोटिव शेड जो की पूर्ण रूप से विकसित भी नहीं हो पाया है अभी तक ना ही 20 वर्षों के बाद कोई विस्तारीकरण किया गया है ना ही इस शेड को इलेक्ट्रिक शेड में परिवर्तित किया गया। आपको बता दें की समस्तीपुर डीजल शेड का शिलान्यास 1996 ईस्वी में तत्कालीन रेल मंत्री रामविलास पासवान के द्वारा किया गया था एवं इसका उद्घाटन 2001 में कीया गया था।

तत्कालीन रेल मंत्री रामविलास पासवान ने यहाँ की आवस्यकताओं को देखते हुए गोंडा और न्यू जलपाईगुड़ी के मध्य समस्तीपुर डीजल लोकोमोटिव शेड का स्थापना किया था। 1998 ईस्वी में तत्कालीन रेल मंत्री नीतीश कुमार ने समस्तीपुर डीजल लोकमोटिव शेड का निरीक्षण कर 2001 में इसका उद्घाटन किया था।

Join Telegram channel

उद्घाटन के समय ही इस शेड को इलेक्ट्रिक लोकोमोटिव शेड में बदलने की बात कही गई थी पर ये लागू नहीं हो पाया। वर्तमान समय में समस्तीपुर डीजल लोकमोटिव शेड में 148 डीजल इंजनों का मेंटेनेंस कार्य होता आ रहा है। लेकिन रेलवे बोर्ड के आदेश के कारण इस डीजल शेड को कन्डमनेशन किया जा रहा है।

जिसके वजह से डीजल लोकमोटिव शेड में डीजल इंजनो की संख्या धीरे धीरे घटते जा रही है और डीजल शेड बंद होने के कगार पर पहुंच गई है। इसके संबंध में जदयू के प्रदेश महासचिव डॉ. दुर्गेश राय ने रेलमंत्री को पत्र लिख के कहा है की जननायक की जन्मभूमि और कर्मस्थली के साथ साथ उद्योगिक रूप से अविकसित जिले को ध्यान में रख कर तत्कालीन रेलमंत्री रामविलस पासवान ने समस्तीपुर जिले के विकास के लिए डीजल लोकोमोटिव शेड का शिलान्यास किया था।

यह जिला केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री नित्यानंद राय जी का कर्मस्थली है तथा राज्य सभा सांसद रामनाथ ठाकुर एवं लोकसभा सदस्य प्रिंस राज जी का कार्य क्षेत्र है। साथ ही रामविलस पासवान जी भी एक बार सांसद रह चुके है। इसके बावजूद भी इस जिले के एक मात्र विकास की किरण डीजल लोकमोटिव शेड को बंद किया जा रहा है जो जिले के लोगों एवं रेल कर्मियों के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है।

और पढ़ें।

Like & Follow for latest Updates| सस्ते रेट में यहाँ पर विज्ञापन के लिए संपर्क करें या व्हाट्सप्प करें: +918674830232

टेलीग्राम चैनल से जुडने के लिए यहां क्लिक करे


HTML tutorial