समस्तीपुर: 1.5 हजार किसानों को लौटाना होगा पीएम किसान सम्मान निधि योजना का 1.44 करोड़ रुपया

समस्तीपुर जिले में पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत कुल 2 लाख 24 हजार 125 किसान अभी तक अपना रेजिस्ट्रैशन करवा चुके है। आपको पता होगा की पीएम किसान सम्मान निधि योजना के अंतर्गत किसानों को प्रति वर्ष 06 हजार रुपए की राशि दी जा रही है। लेकिन किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने वालों में से असली किसान कम है जिसे सहायता राशि मिल रहा है और अपात्र या फर्जी तरीके से लाभ लेने वालों की संख्या अधिक है।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना

ऐसे में अपात्र किसानों को या फर्जी तरीके से किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेने वाले किसानों को सवेक्षा से पैसा लौटने का मैसेज प्राप्त होने लगा है। जिसके कारण उन किसानों में हड़कंप मचा हुआ है जिन्होंने पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ फर्जी तरीके सी ले रहा है। यदि फर्जी तरीके से लाभ लेने वाले किसान सवेक्षा से पैसा नहीं लौटाता है तो उसके खिलाफ कारिवाई की जाएगी।

Join Telegram channel

कृषि विभाग ने सभी लाभार्थी का सत्यापन करने की तैयरी शुरू कर ली है और वैसे फर्जी किसानों को बाहर करने की तैयारी में जट गई है जो फर्जी तरीके से किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहे है। अभी तक कुल 1534 किसानों को राशि लौटाने का मैसेज आ चुका है इन सभी किसानों को 1.44 करोड़ रुपए वापस लौटने है। क्योंकि ये लोग फर्जी तरीके से किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लिए है।

इस योजना के लिए वे लोग अपात्र माने जाएंगे जो किसी प्रकार का 10 से अधिक रुपए का मासिक पेंशन का लाभ उठा रहे है। साथ ही कोई नेता मंत्री या किसी भी सरकारी संस्था के कर्मचारी जो इसका लाभ उठा रहे है वे इसके लिए अपात्र माना जाएगा। साथ वैसे लोग जो भूमिहीन है और किसी और के जमीन पर इस योजना का लाभ ले रहे है वैसे सभी लोगों को अपात्र माना जाएगा।

जो किसान अपात्र होते हुए भी इस योजना का लाभ ले रहे है उनके लिए कृषि विभाग ने अपील की है की वे लोग कोषागार जाकर भारत कोष मे राशि लौटा सकते है। साथ ही वे लोग भारतीय स्टेट बैंक में भी चालान के माध्यम से भी राशि वापस लौटाया जा सकता है। अपात्र किसान के द्वारा लाभ की राशि नहीं लौटाने पर उसके खिलाफ कारवाई की जाएगी।

Like & Follow for latest Updates| सस्ते रेट में यहाँ पर विज्ञापन के लिए संपर्क करें या व्हाट्सप्प करें: +918674830232

टेलीग्राम चैनल से जुडने के लिए यहां क्लिक करे


HTML tutorial