ERSS: बिहार में अब सभी इमरजेंसी सेवाओ के लिए जारी होगा एक नंबर, लोग एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड और पुलिस को एक ही नंबर पर कर सकेंगे संपर्क, पढिए पूरी खबर

ERSS: बिहार में अब लोगों को इमरजेंसी सेवाओ जैसे की एम्बुलेंस, फायर बिग्रेड और पुलिस को कॉल करने के लिए अलग अलग नंबर याद रखने की जरूरत नहीं रहेगी। जैसा की आपको पता है वर्तमान समय में अलग अलग इमरजेंसी सवाओ के लिए अलग अलग नंबर बनाया हुआ है जैसे यदि आपको आपातकालीन स्थिति में पुलिस को बुलाना है तो 100 नंबर पर कॉल करना होता है, एम्बुलेंस को बुलाने के लिए 102 पर कॉल करना होता है एवं फायर बिग्रेड को बुलाना हो तो 101 नंबर पर कॉल करना होता है।

बिहार में कुछ दिनों के बाद से इन सभी इमरजेंसी सेवाओ के लिए गृह विभाग ने एक ही नंबर जारी करने की तैयारी में जुट गई है। नई नियम लागू होने के बाद आपको इमरजेंसी सेवाओ का लाभ लेने के बस 112 नंबर को डायल करना होगा और आप जिस इमरजेंसी सेवा का लाभ लेना चाहते है उसके विकल्प का चयन कीजिएगा और आपको वह सेवा तत्काल उपलब्ध हो जाएगा। इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम (ERRS) को गृह विभाग के द्वारा और भी विकसित किया जा रहा है और संभावना है की यह सेवा अक्टूबर से नवंबर तक शुरू हो जाएगी।

Join Telegram channel

गृह विभाग ने इमरजेंसी रिस्पांस सपोर्ट सिस्टम(ERRS) को विकसित करने के लिए करीब 176.22 करोड़ रुपए का खर्च का आकलन किया गया है। जिसमें से केंद्र सरकार के द्वारा 10.8 करोड़ रुपए अनुदान के रूप में दे भी दिया गया है जबकी राज्य सरकार को 165.42 करोड़ की राशि इस नए डेवलपमेंट पर खर्च करना है। जिसके लिए गृह विभाग ने 48 करोड़ रुपए की राशि आवंटित की है जिसके द्वारा इमरजेंसी सर्विस के लिए वाहनों की खरीदारी की जाएगी। इमरजेंसी सेवा की शुरुआत पहले चरण में पटना समेत 10 जिलों में की जाएगी लेकिन चरणबद्ध तरीके से बिहार के सभी जिलों में लागू की किए जाएंगे।

अन्य खबर के लिए यहां क्लिक करें।

Like & Follow for latest Updates| सस्ते रेट में यहाँ पर विज्ञापन के लिए संपर्क करें या व्हाट्सप्प करें: +918674830232

टेलीग्राम चैनल से जुडने के लिए यहां क्लिक करे


HTML tutorial